What is Domain in Hindi : Best Domain Provider of 2021

 अगर आप ब्लॉग्गिंग में अपना करियर बनाना चाहते है तो इसके लिए आपको डोमेन क्या है, डोमेन किसे कहते है डोमेन कैसे काम करता है, ये सभी बाते आपको जरूर पता होना चाहिए। लेकिन अगर आपको ये सभी बातें नहीं पता है तो आपको ये आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए क्यूंकि आज के हमारे इस आर्टिकल में आपको डोमेन से जुडी सभी बातें बताने वाले है.

वैसे आप में से ज्यादातर लोगो को शायद यह मालूम होगा की डोमेन नाम क्या होता है. लेकिन जिन लोगो नहीं मालूम की डोमेन क्या है, हम उन्हें यह बताना चाहते है, की जब भी आप किसी वेबसाइट को अपने ब्राउज़र सर्च करते हो.

तो वह वेबसाइट आपको ब्राउज़र पर शो होता है, जैसे की अगर आप अपने ब्राउज़र में हमारे वेबसाइट के डोमेन नाम को सर्च करोगे. यानि Hindi19.com को तो आपके ब्राउज़र में हमारी वेबसाइट शो होने लगेगी.

लेकिन अब सवाल यह है की आखिर एक डोमेन नाम और एक वेबसाइट में क्या कनेक्शन होता है. जिससे की डोमेन नाम को सर्च करने पर वेबसाइट शो होने लगती है. आज हम आपको इसी सब के बारे पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे.

डोमेन क्या होता है 

दोस्तों बात करें अगर हम किसी डोमेन नाम की, तो डोमेन कुछ और नहीं बल्कि किसी वेबसाइट का एड्रेस होता है. जिस तरह से आपके घर का एड्रेस होता है, शहर का एड्रेस होता है offices के एड्रेस होता है.

ठीक इसी तरह से इंटरनेट पर हर वेबसाइट को identify करने के लिए इनसे एक different आईपी एड्रेस attached होता है. आईपी एड्रेस का पूरा नाम होता है इंटरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस, यह आईपी एड्रेस हर वेबसाइट और कंप्यूटर और सर्वर का different होता है.

ये आईपी एड्रेस कुछ और नहीं बल्कि कुछ numbers का समूह होता है. जैसे की 194.214.771.21 यह एक आईपी एड्रेस का हमने आपको example दिया है. लेकिन जाहिर सी बात है की इन आईपी एड्रेस को एक आम इंटरनेट यूजर आसानी से याद नहीं रख सकता है.

इस समस्या को हल करता है डोमेन , क्योकि हर डोमेन बिल्कुल अलग होता है. इसके साथ ही वह डोमेन नाम किसी न किसी कंप्यूटर और सर्वर के आईपी एड्रेस के साथ लिंक्ड होता है.

इन डोमेन नाम को याद रखना एक आम इंटरनेट यूजर के लिए बहुत ही आसान होता है. जैसे की हमारी वेबसाइट का डोमेन नाम है Hindi19.com अब आप ही सोचिये की इस नाम को याद रखना ज्यादा आसान है.

या फिर उस आईपी एड्रेस को जिसको हमने example में आपको बताया है. जाहिर है डोमेन नाम को याद रखना ज्यादा आसान है. तो अब आप समझ गए की डोमेन नाम कुछ और नहीं बल्कि किसी वेबसाइट का एड्रेस होता है.

अब आपके दिमाग में यह सवाल आ रहा होगा की आखिर डोमेन नाम को सर्च करने पर इंटरनेट को कैसे पता चलता है. की उसे किस वेबसाइट पर जाकर उसे यूजर के ब्राउज़र में शो करना है? मतलब की आखिर एक डोमेन काम कैसे करता है?

डोमेन कैसे काम करता है 

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की हर डोमेन बिल्कुल अलग होता है. इसके साथ ही हर डोमेन एक बिल्कुल अलग आईपी एड्रेस के साथ जुड़ा हुआ होता है. ये आईपी एड्रेस किसी कंप्यूटर, Electronic devices , सर्वर या वेब होस्टिंग का हो सकता है.

इंटरनेट पर जितनी भी वेबसाइट मौजूद है, वो सभी वेबसाइट किसी न किसी कंप्यूटर पर होस्ट की जाती है. फिर चाहे आप किसी वेबसाइट को अपने personal कंप्यूटर पर होस्ट करते हो.

लेकिन ज्यादातर लोग इंटरनेट पर मौजूद online वेब होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी से अपनी वेबसाइट को उनके सर्वर पर होस्ट करने के लिए उनसे होस्टिंग खरीदते है.

वेब होस्टिंग वह जगह है जहाँ पर आपकी पूरी वेबसाइट store होती है. जैसे की वेबसाइट पर मौजूद कंटेंट वह सब कुछ जो एक वेबसाइट में मौजूद होता है.

डोमेन और वेब होस्टिंग एक दुसरे के साथ लिंक्ड होते है, जब भी कोई यूजर अपने ब्राउज़र का इस्तेमाल करके. किसी वेबसाइट के डोमेन नाम को सर्च करता है, तो वह इंटरनेट एक request send करता है.

फिर इंटरनेट उस डोमेन से लिंक्ड वेब होस्टिंग पर जाता है, और उस वेब होस्टिंग में मौजूद. जो भी कंटेंट है जो उसके वेबसाइट मालिक ने public शो करना allow कर रखा है.

उन सभी कंटेंट को और उस पूरी वेबसाइट को इंटरनेट आपके ब्राउज़र पर शो कर देता है. जिसके बाद आप उस वेबसाइट को देख पाते और उसमे मौजूद जानकारी को एक्सेस कर पाते है.

क्या डोमेन नाम और यूआरएल एक है 

बहुत से ऐसे लोग है जो अक्सर डोमेन नाम और URL जिसका full form Uniform Resource Locator होता है. दोनों को एक ही समझने की भूल कर लेते है, जबकि ऐसा बिलकुल भी नहीं है.

लेकिन एक URL डोमेन नाम नहीं हो सकता है, URL के जरिये हम बहुत से चीजों के बारे में पता कर सकते है. जैसे की किसी वेबसाइट के किसी खास post, page को सर्च करना. इसे आप नीचे दिए गए example से अच्छे से समझ सकते है.

https://hindi19.com  (यह हमारी वेबसाइट का डोमेन नाम है)

https://hindi19.com/Blogging/What is डोमेन नाम (यह हमारी वेबसाइट Hindi19.com पर blog category में मौजूद एक post का URL है)

तो जैसा की आप देख सकते है दोस्तों की यह जरुरी नहीं है की हर URL अपने आप में डोमेन नाम हो. लेकिन एक डोमेन नाम khud अपने आप में किसी वेबसाइट का URL हो सकता है. उम्मीद है अब आपको डोमेन और URL में difference समझ में आ गया होगा.

सबडोमेन नाम क्या है 

दोस्तों जैसा की अब आप जान ही गए होंगे की एक डोमेन क्या होता है. अब जानते है की सबडोमेन क्या होता है, दोस्तों सबडोमेन को डोमेन न होकर बल्कि आपके main डोमेन का ही एक part होता है.

इन सबडोमेन को आपको अपने डोमेन नाम की ही तरह खरीदना नहीं पड़ता. बल्कि जब आप TLD (टॉप लेवल डोमेन ) खरीदते है, तो आप अपने Main डोमेन नाम को कई तरह के सबडोमेन नाम में divide कर सकते है.

जैसे की मान लीजिये की hindi19.com एक main डोमेन नाम है. हम अब इसका सबडोमेन बना सकते है, जैसे की Wemedia.hindi19.com या फिर News.hindi19.com इसी तरह के आप और भी सबडोमेन बना कर सकते है.

असल में ये सबडोमेन आपके main डोमेन के लिए एक तरह से support का काम करते है. जब आप इन सबडोमेन को अपने main डोमेन के साथ जोड़ कर देते है. तो जब भी कोई यूजर ब्राउज़र में सबडोमेन को सर्च करेगा.

जैसे की Wemedia.hindi19.com तो तब ब्राउज़र पर उसे आपकी वेबसाइट hindi19.com पर ही लेकर जायेगा. एक तरह से देखे तो यह आपके वेबसाइट पर पैसे कमाने का का एक तरीका होता है. जिसे अक्सर वेबसाइट मालिक इस्तेमाल करते है.

सबडोमेन को बनाने और उसे अपने main डोमेन के साथ इस्तेमाल करने के लिये. आपको किसी तरह का कोई पैसा नहीं देना पड़ता, यह आपको TLD डोमेन s लेने पर free में ही इस्तेमाल करने को मिल जाता है.

डोमेन कितने प्रकार के होते है 

अगर हम बात करे डोमेन नाम की की डोमेन कितने types के होते है. तो हम आपको बता दे की डोमेन दो तरह के होते है, एक होता है TLD और दूसरा होता है CcTLD. इसके बारे में विस्तार से हम आपको नीचे बता रहे है.

हमारा मानना है दोस्तों की आपको डोमेन नाम के प्रकार के बारे में आपको पता होना चाहिए. ताकि जब आप अपनी वेबसाइट के डोमेन नाम purchase करे तो उस time आप डोमेन choose करने में confइस्तेमाल न हो.

(1) TLD – टॉप लेवल डोमेन s

TLD का पूरा नाम होता है टॉप लेवल डोमेन , इन्हें टॉप लेवल डोमेन बोलने की एक वजह है. वह, यह है की इन डोमेन s को सबसे पहले बनाया गया था और ये Google और दुसरे सर्च इंजन पर बहुत ही आसानी से rank कर जाता है.

अपने अक्सर देखा होगा की हर डोमेन में एक बिंदु होता है जिसे “Dot” बोला जाता है. इसी dot के बाद का हिस्सा सबसे ज्यादा जरूरी होता है. इस तरह के डोमेन कुछ इस प्रकार के होते है, जैसे की –

.com : ज्यादातर Commercial वेबसाइट के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

.org : ज्यादातर वे वेबसाइट इस्तेमाल करती है जोकि एक Organization के लिए बनाया गया हो.

.gov Goverment की वेबसाइट के इस्तेमाल किया जाता है.

.edu : education से related वेबसाइट के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

.biz : business के लिए इस्तेमाल किया जाता है)

.net : Network वेबसाइट के लिए किया जाता है)

.info : ऐसी वेबसाइट के लिए किया जाता है जोकि जानकारी provide करती है)

आइये अब जानते है की CcTLD क्या होता है –

(2) CcTLD – Country Code टॉप लेवल डोमेन s

इन डोमेन s का इस्तेमाल ख़ास तौर पर उन वेबसाइटs के लिए किया जाता है. जोकि किसी खास एक देश के यूजरs या audience को target करती है. ये डोमेन किसी country के नाम के दो letter ISO code के base पर बनाये जाते है. जैसा की आप नीचे देख सकते है –

.in : भारतीय वेबसाइट या हिंदी वेबसाइट के लिए इस्तेमाल किया जाता है)

.us : United States of America के लिए होता है)

.uk : United Kingdom के लिए होता है)

.pk : Pakistan के लिए होता है)

.br : Brazil देश के लिए होता है)

डोमेन नाम कहा से ख़रीदे

1.Hostinger : Best Domain & Hostinger Provider

2.BlueHost : Domain provider with Amazing Features

3.BigRock : Indian Domain Provider

4.NameCheap : Best Cheaps Domain Provider

हम आपको कुछ ऐसी वेबसाइट के नाम बता रहे है जहा से आप काफी कम पैसो में एक नया डोमेन नाम खरीद सकते है.

उम्मीद है अब आपको समझ आ गया होगा की सबडोमेन क्या है और इनका क्या इस्तेमाल होता है. तो दोस्तों अब आपको डोमेन के बारे में लगभग पूरी जानकारी हो गयी है.

Disclaimer : This article represents the view of the author only and does not reflect the views of the Hindi19 platform in anyway.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here