1 April इन गाड़ियों पर लागू होगा नया नियम, 1 करोड़ रुपये तक का जुर्माना,

विनिर्माण में खामी को लेकर अगर Government की तरफ से अनिर्वाय रूप से गाड़ियों को वापस मंगाये जाने का आदेश दिया जाता है तो कंपनियों को एक करोड़ रुपये तक का जुर्माना देना होगा. यह व्यवस्था 1 April 2021 से लागू होगी.

 सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि विनिर्माण में खामी को लेकर अगर Government की तरफ से अनिवार्य रूप से गाड़ियों को वापस मंगाये जाने का आदेश दिया जाता है तो कंपनियों को एक करोड़ रुपये तक का जुर्माना देना होगा. यह व्यवस्था एक अप्रैल, 2021 से लागू होगी. मंत्रालय ने विनिर्माताओं द्वारा गाड़ियों में गड़बड़ी को लेकर अनिवार्य रूप से उसे वापस मंगाये जाने के लिए नियम जारी किया है.

करना होगा Recall
मंत्रालय ने कहा कि यह अधिसूचित किया गया है कि जहां किसी विशेष श्रेणी के वाहन के मामले में वाहन वापस मंगाये जाने के Portal पर कुल बिक्री के समक्ष एक न्यूनतम संख्या से ज्यादा शिकायतें आती हैं तो विनिर्माता पर उन गाड़ियों को ठीक करने के लिए अनिवार्य रूप से वापस मंगवाने का नियम लागू होगा.

ग्राहकों के लिए बनेगा Complain Portal
Government का इरादा वाहन मालिकों के लिए एक Portal स्थापित करने का है ताकि वे अपनी शिकायत दर्ज कर सकें, शिकायतों के आधार पर ऑटो कंपनियों को नोटिस भेजा जाएगा, जिसका जवाब 30 दिन में देना होगा. आपको बता दें कि सड़क सुरक्षा को लेकर Government काफी गंभीर है. सड़क दुर्घटनाओं में मौत की संख्या में 50 परसेंट तक कमी लाने की योजना पर सड़क परिवहन मंत्रालय काम कर रहा है. ये कदम भी उसी दिशा में उठाया गया है.

1 करोड़ तक जुर्माने : गाड़ियों की संख्या और उनके प्रकार के आधार पर जुर्माना 10 लाख रुपये से लेकर एक करोड़ रुपये होगा. केंद्रीय मोटर वाहन कानून के तहत गाड़ियों के परीक्षण और अनिवार्य रूप से वापस मंगाये जाने के नियम में जुर्माने का प्रावधान है. यह जुर्माना तब लगता है जब विनिर्माता या आयातक स्वेच्छा से वाहन मंगाने में विफल रहते हैं. फिलहाल इसको लेकर कोई जुर्माना नहीं लग रहा था.

इन गाड़ियों पर लागू होगा नया नियम
नया नियम उन गाड़ियों पर लागू होगा जो सात साल से कम पुराने है. इसमें वाहन या कल-पुर्जे अथवा सॉफ्टवेयर में उस गड़बड़ी को खामी मानी जाएगी, जिससे सड़क सुरक्षा को लेकर जोखिम है.

Disclaimer : This article represents the view of the author only and does not reflect the views of the Hindi19 platform in anyway.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here