फ़ोन पर सुरक्षा अद्यतन डाउनलोड करना न भूलें, खतरनाक फ़्लूबोट मैलवेयर वापस आ गया है

इस वर्ष की दूसरी तिमाही में, Flubot (Flubot) नामक एक मैलवेयर ने दुनिया के कई क्षेत्रों में Android उपयोगकर्ताओं के लिए असुविधा का कारण बना। प्रौद्योगिकी की दुनिया पिछले अप्रैल में इन आरोपों से घिरी हुई थी कि यह एक संक्रमित फोन पर ‘वॉयसमेल’ सुनने के लिए एक लिंक के साथ एक एसएमएस भेजकर उपयोगकर्ताओं की ऑनलाइन बैंकिंग आईडी और पासवर्ड चुरा रहा था। लेकिन अब साल के अंत में यह आशंका जताई जा रही है कि यह Flubot फिर से उठ खड़ा होगा। इतना ही नहीं, सुनने में आया है कि मैलवेयर ने अब यूजर्स के डिवाइस को एक्सेस करने का एक नया तरीका ढूंढ लिया है, ताकि वह अपने इच्छित उद्देश्य को आसानी से पूरा कर सके।

Flubot वास्तव में कैसे हमला कर रहा है?

न्यूजीलैंड कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी-एनजेड) के मुताबिक, फ्लूबोट मैलवेयर हाल ही में एक खतरनाक नई रणनीति के साथ लौटा है। पहले यह यूजर्स को रिझाने या बेवकूफ बनाने के लिए फर्जी वॉयस मेल एप्लीकेशंस का इस्तेमाल करती थी। लेकिन अब विशेष रूप से उपयोगकर्ताओं को बेवकूफ बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया एक पैकेज डिलीवरी लिंक भेजा जा रहा है। इस मामले में, जैसे ही उपयोगकर्ता लिंक पर क्लिक करते हैं, उन्हें एक चेतावनी दिखाई देती है कि डिवाइस खतरनाक Flubot मैलवेयर से संक्रमित हो गया है। और Android सुरक्षा अद्यतन स्थापित करने के लिए सुझाव हैं। चिंता की बात यह है कि यदि उपयोगकर्ता अनजाने में इस सुरक्षा अपडेट को फोन की सेटिंग से डाउनलोड किए बिना उस चेतावनी से अपडेट डाउनलोड करने का प्रयास करते हैं, तो Flubot अपने आप उनके स्मार्टफोन में डाउनलोड हो जाएगा!

एक बार जब मैलवेयर किसी उपकरण को संक्रमित कर देता है, तो उस उपकरण की संपर्क सूची पर उसके प्रभाव का विस्तार हो जाएगा। इसके अलावा, डिवाइस के संक्रमित होने के बाद, उपयोगकर्ताओं के लॉगिन विवरण, पासवर्ड और अन्य प्रमाणपत्र चोरी होने की संभावना है!

Flubot मैलवेयर से अपनी सुरक्षा कैसे करें

पाठकों को सलाह दी जाती है कि वे आपके डिवाइस को Flubot मैलवेयर से बचाने के लिए स्क्रीन पर प्रदर्शित पॉप-अप से कोई सुरक्षा अपडेट इंस्टॉल न करें। और यदि आपका उपकरण इस प्रकार के मैलवेयर से संक्रमित प्रतीत होता है, तो आप फ़ैक्टरी रीसेट तुरंत करके समस्या से बच सकते हैं।

Disclaimer : This article represents the view of the author only and does not reflect the views of the Hindi19 platform in anyway.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here